KAL KA SAMRAT NEWS INDIA

हर नजरिए की खबर, हर खबर पर नजर

Home » ICICI बैंक ब्रांच मैनेजर ने खातों से निकाले 2 करोड़:ग्राहकों के खातों से गायब किए रुपए, FD से फर्जी लोन तक उठाया

ICICI बैंक ब्रांच मैनेजर ने खातों से निकाले 2 करोड़:ग्राहकों के खातों से गायब किए रुपए, FD से फर्जी लोन तक उठाया

Spread the love

ICICI बैंक ब्रांच मैनेजर ने खातों से निकाले 2 करोड़:ग्राहकों के खातों से गायब किए रुपए, FD से फर्जी लोन तक उठाया

प्रतापगढ़ / धरियावद

ICICI बैंक का ब्रांच मैनेजर ग्राहकों के अलग-अलग अकाउंट और एफडी के लोन से 2 करोड़ रुपए का गबन कर गया। एक ग्राहक के केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) खाता जीरो बैलेंस दिखा रहा था। तभी यह मामला खुला। मामला प्रतापगढ़ थाना क्षेत्र के धरियावद का है। सोमवार रात 9 बजे फर्जीवाड़े की जानकारी सामने आई। इसके बाद ग्राहकों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस पर रीजनल हेड मनोज बैरागी मौके पर पहुंचे और पीड़ितों को समझाने का प्रयास किया।
मंगलवार को रीजनल हेड मनोज बैरागी की ओर से ब्रांच मैनेजर प्रशांत काबरा (36) के खिलाफ धरियावद थाने में मामला दर्ज करवाया गया। इसके बाद प्रशांत को दोपहर डेढ़ बजे पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

इस तरह हुआ मामले का खुलासा

बैंक के कस्टमर भूपेत रोत ने बताया- मुझे एक परिचित से जानकारी मिली कि थी कि रविवार तक उसके केसीसी अकाउंट में 2 लाख रुपए से ज्यादा था। जब सोमवार को वह रुपए लेने पहुंचा तो खाते में रुपए नहीं थे। इसी बीच वह मुझे मिला और घटनाक्रम बताया। मुझे शक हुआ तो सोमवार शाम 7 बजे मैं बैंक पहुंचा। मुझे पता था कि मेरे केसीसी अकाउंट में 32 लाख रुपए पड़े हैं। जब मैंने अपना अकाउंट बैलेंस बैंक से पता करवाया तो पता चला कि उसमें बैलेंस जीरो है।
मैंने मैनेजर प्रशांत काबरा से इस बारे में पूछा। उसने कोई जवाब नहीं दिया। भूपेत का आरोप है कि प्रशांत काबरा 5 से 7 करोड़ रुपए का गबन कर चुका है।

उदयपुर का एक व्यापारी कर रहा था ब्लैकमेल
पुलिस सूत्रों के अनुसार, पुलिस पूछताछ में मैनेजर ने बताया कि उदयपुर के व्यापारी जालमचंद का खाता धरियावद शाखा में ही है। कुछ समय पहले उसने व्यापारी के खाते से बिना जानकारी के 3.60 लाख रुपए का लेनदेन किया था।
इसकी जानकारी जालमचंद को लग गई। इसके बाद से जालमचंद उसे ब्लैकमेल करने लगा। ब्रांच मैनेजर का कहना है कि बैंक के ग्राहकों से निकाले गए रुपए वह जालमचंद की फर्म और उसके परिवार के लोगों के अकाउंट में भेजे हैं। पूछताछ में बताया कि बैंक के कर्मचारी भी उसके साथ मिले हुए हैं। कई वर्षों से वो ये काम कर रहा है।

मैनेजर को बैंक से हिरासत में लिया

धरियावद थानाधिकारी पेशावर खान ने बताया- ICICI बैंक के बांसवाड़ा हेड मनोज बैरागी ने मंगलवार दोपहर 12 बजे रिपोर्ट देकर बताया कि धरियावद ICICI बैंक के मैनेजर प्रशांत काबरा ने गबन कर 2 करोड़ रुपए उठा लिए हैं। उन्होंने बताया कि ​ये 2 करोड़ रुपए कितने ग्राहकों के थे, इसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
प्रारंभिक तौर पर सामने आया कि इसने केसीसी अकाउंट और कुछ एफडी पर भी लोन लेकर गबन किया है। आरोपी से पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि बैंक मैनेजर ने ये राशि खातों में ट्रांसफर की है या किसी को दी है। जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि इस गबन में और कोई कर्मचारी शामिल है या नहीं। बैंक मैनेजर काफी समय से यहां तैनात है, लेकिन अभी कह नहीं सकते कि कब से यह गबन कर रहा था।
एसपी अमित कुमार ने बताया- धरियावद बैंक में निवेशकों के साथ हुए फ्रॉड के बाद पुलिस ने बैंक मैनेजर को हिरासत में ले लिया है। एसआईटी का गठन किया है। एसएसपी भागचंद मीणा के निर्देशन में तैयार की गई टीम में धरियावद एसएचओ पेशावर खान और साइबर सेल की विशेष टीम को लगाया गया है।
मीणा समाज सुधार संस्थान ने कलेक्टर को दी शिकायत
इधर, मीणा समाज सुधार संस्थान के एडवोकेट केशु लाल मीणा ने बताया- मीणा समाज सुधार संस्थान धरियावद ने मंगलवार को कलेक्टर अंजली राजौरिया के नाम तहसीलदार रविंद्र सिंह को ज्ञापन सौंपा है। इसमें बताया गया कि ICICI बैंक के मैनेजर प्रशांत काबरा और अन्य बैंक कर्मचारियों ने किसानों से जमाबंदी की नकल और नक्शा ट्रेस लेकर अवैध रूप से लोन स्वीकृत किया। मैनेजर ने लोगों की पासबुक और चेकबुक अपने पास रखी। उन्होंने किसानों के साथ बहुत बड़ा विश्वासघात किया है। उन्होंने प्रशासन से मामले की जांच करवाकर दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की। ऐसा नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

Skip to content