KAL KA SAMRAT NEWS INDIA

हर नजरिए की खबर, हर खबर पर नजर

Home » जायल पुलिस ने मां-बेटों से की मारपीट:थाने में सीसीटीवी से दूर ले जाकर पट्‌टों से मारा; SP से शिकायत करने पहुंचे पीड़ित

जायल पुलिस ने मां-बेटों से की मारपीट:थाने में सीसीटीवी से दूर ले जाकर पट्‌टों से मारा; SP से शिकायत करने पहुंचे पीड़ित

Spread the love

नागौर

​​​​​नागौर के जायल कस्बे में आम रास्ते से पानी का कुंडा हटाने को‌ लेकर दो‌ पक्षों में मारपीट हो गई। मारपीट से पीड़ित महिला और उसके 2 बेटे जायल थाने में शिकायत देने पहुंचे। पीड़ितों का कहना है कि थाने में शिकायत देने पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने सामने वाले पक्ष के लोगों को छोड़ दिया और हमारी पिटाई कर दी।
मामले को लेकर महिला व उसके दोनों बेटों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर कलक्टर व एसपी को परिवाद दिया है। परिवाद के अनुसार जायल निवासी नरसीराम ने बताया कि 7 फरवरी को पड़ोसी रामप्रसाद भार्गव की पत्नी तारु ने बीच रास्ते में पानी‌ की कुंडी रख दी तो मैंने उस कुण्डी को बीच रास्ते से हटाकर साइड में रख दिया।
इस दौरान तारू पत्नी रामप्रसाद व राकेश पुत्र रामप्रसाद, राहुल पुत्र रामप्रसाद, रामप्रसाद पुत्र कानाराम ने मिलकर मेरे साथ मारपीट की। नरसीराम की माता मूली देवी छुड़ाने आयी तो उनके साथ भी मारपीट की। जिससे मूली देवी के हाथ में गंभीर चोट आई। मेरे भी हाथ व सिंर पर दो टांके आये। मेरे भाई सत्यनारायण भार्गव के भी सिर पर चोट आई।
इसके बाद जायल थाने गए तो एसआई ने दोनों पक्षों को पाबंद‌ करने का आदेश दे दिया। लेकिन रामप्रसाद के जान पहचान वाले पुलिसकर्मियों ने रामप्रसाद को तो छोड़ दिया लेकिन मुझे सीसीटीवी कैमरों से दूर एक कमरे में ले‌ जाकर पट्टों से मारपीट की।
मारपीट कर रात 10 बजे छोड़ दिया। तथा इसके बाद रात 11.00 बजे के करीब रात में पुलिस वाले गाडी लेकर मेरे घर आए। उन सबने मेरे घर के दरवाजे को पैरों व डंडो बरसाए और जान से मारने की धमकियां दीं। साथ ही अगले फिर थाने ले जाकर मारपीट करने की बात कहते रहे।
नरसीराम ने इस संबंध में एसपी व कलक्टर के कार्यालय में परिवाद देकर पड़ोसी रामप्रसाद व जायल पुलिस थाने के दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की मांग की है।

जायल पुलिस ने मां-बेटों से की मारपीट:थाने में सीसीटीवी से दूर ले जाकर पट्‌टों से मारा; SP से शिकायत करने पहुंचे पीड़ित

नागौर

​​​​​नागौर के जायल कस्बे में आम रास्ते से पानी का कुंडा हटाने को‌ लेकर दो‌ पक्षों में मारपीट हो गई। मारपीट से पीड़ित महिला और उसके 2 बेटे जायल थाने में शिकायत देने पहुंचे। पीड़ितों का कहना है कि थाने में शिकायत देने पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने सामने वाले पक्ष के लोगों को छोड़ दिया और हमारी पिटाई कर दी।
मामले को लेकर महिला व उसके दोनों बेटों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर कलक्टर व एसपी को परिवाद दिया है। परिवाद के अनुसार जायल निवासी नरसीराम ने बताया कि 7 फरवरी को पड़ोसी रामप्रसाद भार्गव की पत्नी तारु ने बीच रास्ते में पानी‌ की कुंडी रख दी तो मैंने उस कुण्डी को बीच रास्ते से हटाकर साइड में रख दिया।
इस दौरान तारू पत्नी रामप्रसाद व राकेश पुत्र रामप्रसाद, राहुल पुत्र रामप्रसाद, रामप्रसाद पुत्र कानाराम ने मिलकर मेरे साथ मारपीट की। नरसीराम की माता मूली देवी छुड़ाने आयी तो उनके साथ भी मारपीट की। जिससे मूली देवी के हाथ में गंभीर चोट आई। मेरे भी हाथ व सिंर पर दो टांके आये। मेरे भाई सत्यनारायण भार्गव के भी सिर पर चोट आई।
इसके बाद जायल थाने गए तो एसआई ने दोनों पक्षों को पाबंद‌ करने का आदेश दे दिया। लेकिन रामप्रसाद के जान पहचान वाले पुलिसकर्मियों ने रामप्रसाद को तो छोड़ दिया लेकिन मुझे सीसीटीवी कैमरों से दूर एक कमरे में ले‌ जाकर पट्टों से मारपीट की।
मारपीट कर रात 10 बजे छोड़ दिया। तथा इसके बाद रात 11.00 बजे के करीब रात में पुलिस वाले गाडी लेकर मेरे घर आए। उन सबने मेरे घर के दरवाजे को पैरों व डंडो बरसाए और जान से मारने की धमकियां दीं। साथ ही अगले फिर थाने ले जाकर मारपीट करने की बात कहते रहे।
नरसीराम ने इस संबंध में एसपी व कलक्टर के कार्यालय में परिवाद देकर पड़ोसी रामप्रसाद व जायल पुलिस थाने के दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की मांग की है।

Skip to content