KAL KA SAMRAT NEWS INDIA

हर नजरिए की खबर, हर खबर पर नजर

Home » चूरू रेलवे स्टेशन से पकड़ा गया 2.68 करोड़ का सोना:4 किलो के गोल्ड के बिस्किट मिले, कोलकाता से तस्करी कर राजस्थान लाए दो तस्कर गिरफ्तार

चूरू रेलवे स्टेशन से पकड़ा गया 2.68 करोड़ का सोना:4 किलो के गोल्ड के बिस्किट मिले, कोलकाता से तस्करी कर राजस्थान लाए दो तस्कर गिरफ्तार

Spread the love

चूरू रेलवे स्टेशन से पकड़ा गया 2.68 करोड़ का सोना:4 किलो के गोल्ड के बिस्किट मिले, कोलकाता से तस्करी कर राजस्थान लाए दो तस्कर गिरफ्तार

जयपुर

राजस्थान की डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) की टीम ने चूरू रेलवे स्टेशन पर एक बड़ा ऑपरेशन कर सोने के दो तस्करों को पकड़ा है। तस्करों से करीब 2 करोड़ 68 लाख रुपए का सोना बरामद किया है। इसका कुल वजन 4 किलो 200 ग्राम है। जो बिस्किट की फॉर्म में थे।
डीआरआई के अधिकारियों ने बताया- उनके पास इनपुट था की कोलकाता से बीकानेर जाने वाली सियालदाह एक्सप्रेस ट्रेन से दो तस्कर सोना लेकर चूरू उतरने वाले हैं। इस पर डीआरआई की टीम ने गोल्ड तस्करों पर नजर रखाना शुरू किया। इंटेलिजेंस के माध्यम से दोनों तस्करों पर नजर रखी गई। 28 फरवरी को चूरू स्टेशन पर 3.15 बजे के करीब ट्रेन के पहुंचने पर दोनों तस्करों को डीआरआई की टीम ने पकड़ लिया।
स्टेशन पर सर्च के दौरान दोनों बदमाशों के पास से 4 किलो 200 ग्राम गोल्ड के बिस्किट मिले। इस पर डीआरआई की टीम दोनों तस्करों को लेकर जयपुर पहुंची। कोर्ट के सामने पेश किया। कोर्ट ने आगे की जांच को देखते हुए दोनों को अभी जेल भेज दिया हैं।

दोनों आरोपी चूरू जिले के पहले भी कर चुके तस्करी

दोनों बदमाशों ने पूछताछ में बताया- वह यह सोना कोलकाता से लेकर आए थे। इसकी डिलीवरी उन्हें चूरू में देनी थी। पहले भी सोने की तस्करी कर चुके हैं। चूरू के पास फतेहपुर (सीकर) में इस सोने की तस्करी दूसरे बदमाश को करनी थी। डीआरआई की टीम ने बदमाशों से मिली जानकारी के बाद गैंग के अन्य सदस्यों के ठिकानों पर रेड करना शुरू कर दिया हैं।

विदेशी मार्क को हटाया करते कोलकाता में

तस्करों के अनुसार- ये लोग कोलकाता​​​​​​​ में सोने को गला दिया करते थे। इससे सोने पर लिखे नाम और मार्क हट जाया करते थे। फिर ये लोग सोने के बिस्किट बना दिया करते थे। इससे किसी को नहीं पता चलता था कि यह गोल्ड किस देश से लाया गया है। गैंग में सदस्यों की संख्या बड़ी है। इसलिए हर किसी को अलग-अलग काम दिया जाता है।

Skip to content